मंगलवार, मई 28, 2013

सोमवार, मई 27, 2013

सौवीं गली का प्रवेश : दिलीप तेतरवे - कहानी (व्यंग्य)

सोमवार, मई 27, 2013
साहब, मैं असत्यानंद किस्सागो हूं. अभी जो स्टोरी मैं आपको सुनाने जा रहा हूं, वह सौ प्रतिशत सच है. आप मुझ में विश्वास रखें और इस स्टोरी से...

लघु कवितायें - शैलेन्द्र कुमार सिंह

सोमवार, मई 27, 2013
शैलेन्द्र कुमार सिंह एम्.ए.पी-एच .डी(हिंदी ) हिंदी ,प्राध्यापक ,राजकीय वरिष्ठ माद्यमिक विद्यालय , बहोड़ा-कलां गुडगाँव (हरियाणा ...

शुक्रवार, मई 24, 2013

आप बहुत याद आए प्रसन्न दा - मज़कूर आलम

शुक्रवार, मई 24, 2013
    आज मैं अपनी बात छह अंधे और एक हाथी की कहानी से शुरू करूंगा। तो कहानी यूं है- किसी गांव में 6 अंधे आदमी रहते थे। एक दिन उन्हें पता चला...

मजरुह सुल्तानपुरी को याद करते - सुनील दत्ता

शुक्रवार, मई 24, 2013
मजरुह सुल्तानपुरी 1 अक्टूबर 1919 − 24 मई 2000 चाक-ए-जिगर मुहताज-ए-रफ़ू है आज तो दामन सिर्फ़ लहू है एक मौसम था हम को रहा है शौक़-ए-...

बुधवार, मई 22, 2013

रविवार, मई 19, 2013

गूगलानुसार शब्दांकन