हंस की सालाना संगोष्ठी ※Hans' Annual Conference

View Larger Map ― “अभिव्यक्ति और प्रतिबन्ध” ❐ दिनांक ▶ बुधवार, ३१ जुलाई २०१३ ❐ समय ▶ शाम ५ बजे ❐ स्थान ▶मुख्य सभागार, ऐवाने ग...
Read More

दूसरे समय में कहानी - अशोक मिश्र

बहुवचन की प्रति प्रेषित करने के साथ ही संपादक अशोक मिश्र ने मुझे अपनी निष्पक्ष राय देने का आदेश भी दिया... अब कहाँ उनके जैसा वरिष्ठ अनुभवी...
Read More

लघुकथा - दिस इस अमेरिका - डॉ. अनीता कपूर

   " गुड मॉर्निंग, मिस्टर जॉर्ज, हाउ आर यू दिस मॉर्निंग ? ”    “ डूइंग गुड मिस नीना ”, कहकर जॉर्ज अपना सिर हिलाता है, और नीना की तर...
Read More

लधुकथा: दिन बीच खाना - प्रतिभा गोटीवाले

    मेटरनिटी होम एंड टेस्ट ट्यूब बेबी सेंटर के बाहर लगी बेंच पर वो ग्रामीण दंपत्ति, पिछले तीन घंटे से बैठे थे , अब जाकर उनका नंबर आया था ,...
Read More

अपने पंखों को आकाश दो - गीताश्री

आदमियों की निगाह में यदि स्त्री करती है गिले शिकवे या बार-बार दोहराती है एक ही बात आदमी को समझ जाना चाहिए कि उसकी आस अभी टू...
Read More

कवितायेँ - ऐन सूरज की नाक के नीचे : सुमन केसरी

उसके मन में उतरना...  उसके मन में उतरना मानो कुएँ में उतरना था सीलन भरी अंधेरी सुरंग में      उसने बड़े निर्विकार ढंग से      अं...
Read More

दो गज़लें - मूसा खान अशांत

अब  तो  लगता  है  इस  तरह से  जीना होगा प्यास  लगने  पे  लहू  अपना  ही  पीना  होगा किसको फुर्सत है की ग़म बाँट ले गैरों का यहाँ ...
Read More

कवितायेँ - रविश ‘रवि’

चाँद की बेचैनी ! चाँद में है बेचैनी और तारों में भी है कुछ सुगबुगाहट सी बस कुछ और पल और आ जायेगा सूरज उनकी रोशनी का सौदा करने...
Read More

कविताएँ - कल्याणी कबीर

जनवादी लेखक संघ, अक्षरकुम्भ, सिंहभूम जिला साहित्य परिषद् आदि साहित्यिक मंच की सदस्या कल्याणी कबीर का जन्म बिहार के मोकामा गाँव में ५ ज...
Read More

कहानी: तमाशा - सुश्री कविता

15 अगस्त को बिहार के मुजफ्फरपुर में जन्मीं कविता की लेखन विधाओं में कहानी, उपन्यास, कविता, समीक्षा आदि शामिल हैं। युवा लेखिका कविता क...
Read More
osr5366