मंगलवार, जनवरी 08, 2013

कहानी- बाबुल मोरा - ज़किया ज़ुबैरी

मंगलवार, जनवरी 08, 2013
लिसा पुलिस चौकी के पिछले दरवाज़े पर तेज़ी से भागती हुई पहुँची।  नीले डेन्हिम के शॉर्ट्स  उसकी लम्बी लम्बी गुलाबी टांगों के ऊपर टेढ़े होकर ...

गूगलानुसार शब्दांकन