कविता में कवि-मन दिखाई देना चाहिए- लीलाधर मंडलोई

     24 फरवरी, 2013, नयी दिल्ली - विनोद पाराशर      सिरीफोर्ट आडिटोरियम के नजदीक वरिष्ठ चित्रकार अर्पणा कौर की ’ एकेडमी आफ फाइन आर्ट एण्...
Read More

शिशु और शव का मिटता फर्क - प्रेम भारद्वाज

शिशु और शव का मिटता फर्क      दोस्तोएवस्की ने कहा था कि अगली शताब्दी में नैतिकता जैसी कोई चीज नहीं होगी। गुलजार के सिनेमाई गीतों पर आध...
Read More
osr5366