मंगलवार, अक्तूबर 22, 2013

कवितायेँ : विजया कान्डपाल | Poetry : Vijaya Kandpal

मंगलवार, अक्तूबर 22, 2013
कवितायेँ : विजया कान्डपाल   देहरादून में जन्मीं स्वतंत्र पत्रकार विजया कान्डपाल अंग्रेज़ी व हिन्दी में लिखती हैं, इनकी रचनायें हिन्दी व...

युवा कथाकार हितेन्द्र पटेल के उपन्यास ‘चिरकुट’ पर चर्चा : पुखराज जाँगिड़ | Hitendra Patel's Novel 'Chirkut'

मंगलवार, अक्तूबर 22, 2013
“ देर से ही सही पर अब हिन्दी में भी नये समय की चुनौतियों का सामना करने के लिए नये तरीके से सोचने और काम करने का समय आ गया है। अब हिन्दी मे...

गूगलानुसार शब्दांकन

loading...