रविवार, अप्रैल 06, 2014

भाषा सोच की शैली को प्रतिबिंबित करती है - मैनेजर पांडेय Language reflects the style of thinking - Manager Pandey

रविवार, अप्रैल 06, 2014
विनोद तिवारी और समकालीन आलोचना रचनाकार का यह आरोप कि, आलोचक ने उसकी रचना को समझा ही नहीं है, उसने अपने मन और विचार से असंगत निष्कर्षो...

मीडिया - भारी–भरकम पूंजी का हरकारा : अशोक मिश्र Media - Ponderous Harbinger of Capital : Ashok Mishra

रविवार, अप्रैल 06, 2014
मीडिया का अतिरेकी आचरण  - अशोक मिश्र देखते ही देखते वर्ष 2013 धीरे से विदा हो गया और एक नए साल के साथ ही हम वर्ष 2014 में आ पहुंचे है...

एक चुनाव और क़िस्मत की दो चाबियाँ! - क़मर वहीद नक़वी | Qamar Waheed Naqvi on Election 2014

रविवार, अप्रैल 06, 2014
नारे विकास के हों, सपने भविष्य के हों, बातें सुशासन की हों, दावे कड़क कप्तानी के हों, तेवर टनाटन ओज के हों, और टीका हिन्दुत्व का हो, तो फ...

गूगलानुसार शब्दांकन