राजेन्द्र यादव की कवितायेँ Poems of Rajendra Yadav

राजेन्द्र यादव की कवितायेँ न-बोले क्षण न, कुछ न बोलो मौन पीने दो मुझे     अपनी हथेली से तुम्हारी उँगलियों का कम्प...     उँह, ...
Read More

राजेन्द्र यादव को याद करती कविता - अंधेरी कोठरी मेँ रोशनदान की तरह | Kavita Remembers Rajendra Yadav

अंधेरी कोठरी मेँ रोशनदान की तरह  कविता ‘हंस’ मेरा दूसरा मायका था आज राजेन्द्र जी पर जब लिखने बैठी हूँ, ऐन सुबह का वही समय है जब...
Read More

राजेंद्र यादव: हमारे समय का कबीर - अनंत विजय | Anant Vijay Remembers Rajendra Yadav

राजेंद्र यादव के जाने से साहित्य जगत में जो सन्नाटा पसरा है  वह हाल फिलहाल में टूटता नजर नहीं आ रहा है  - हमारे समय का कबीर - अन...
Read More
osr5366