सोमवार, नवंबर 03, 2014

उनसे ज्यादा अकेला कौन है - नामवर सिंह | Who is more Lonelier than Me - Namvar Singh

सोमवार, नवंबर 03, 2014
विचारिए साहित्यकार का अकेलापन अनंत विजय राजेन्द्र यादव की पहली पुण्य तिथि पर हुए आयोजन में तीस पैंतीस लोगों का जुटना वरिष्ठ लेखकों ...

नामवर सिंह से कवि केदारनाथ सिंह की बातचीत / Namvar Singh in Conversation with Poet Kedarnath Singh

सोमवार, नवंबर 03, 2014
संवाद आलोचना के जोखिम नामवर सिंह से कवि केदारनाथ सिंह की बातचीत Risks of Criticism   Namvar Singh in Conversation with Poet Ke...

बनारसी राग दरबारी में आत्मगाथा - आकांक्षा पारे | Akanksha Pare's Review of Alpana Mishra's 'Anhiyaare Talchhat Main Chamka'

सोमवार, नवंबर 03, 2014
समीक्षा बनारसी राग दरबारी में आत्मगाथा - आकांक्षा पारे जो बातें दिल से निकलती हैं वे अक्सर मां के लिए ही होती हैं। यह उपन्यास भ...

गूगलानुसार शब्दांकन