वर्तमान साहित्य फरवरी, 2015 - आवरण व अनुक्रमणिका


वर्तमान साहित्य

साहित्य, कला और सोच की पत्रिका

वर्ष 32 अंक 2  फरवरी, 2015
सलाहकार संपादक:
रवीन्द्र कालिया
संपादक:
विभूति नारायण राय
कार्यकारी संपादक:
भारत भारद्वाज

--------------------------------------------------------------
संपादकीय: कबिरा हम सबकी कहैं / विभूति नारायण राय

चर्चित कहानी बनाम प्रिय कहानी:

मामला आगे बढ़ेगा अभी/चित्रा मुद्गल
परिचर्चा/विश्वनाथ त्रिपाठी, शंभु गुप्त

यात्रा वृत्तांत:
लू शुन के देश में/शिवमूर्ति

कविता:
पवन करण/पांच कविताएं
अरुण आदित्य/तीन कविताएं

कहानी:
दूब की वर्णमाला/चंदन पांडेय
प्रयागराज एक्सप्रेस/कबीर संजय 
व्हाइट ब्लैंक पेपर/ विजय गौड़

संस्मरण:
साथ रखते थे अनुशासन की छड़ी: रवींद्रनाथ त्यागी/प्रताप सोमवंशी 

गोलमेज:
पश्चिम बंगाल में वाम के सफाये के कारण/ निहितार्थ

नई किताब:
विविध रूपों और स्तरों वाला ‘निर्वासन’/ मधुरेश

मीडिया:
कैसे बदलाव हो रहे हैं मीडिया में/ प्रांजल धर

स्तंभ:
तेरी मेरी सबकी बात/ नमिता सिंह

रायपुर प्रसंग:
खरे और खोटे क्रांतिकारी/ श्यामसुंदर शर्मा

--------------------------------------------------------------


सम्पादकीय कार्यालय : टी/101, आम्रपाली सिलिकानॅ सिटी,
सेक्टर–76, नोएडा– 201306 मो० : 91–9643890121

वितरण कार्यालय : 28, ए० आइ० जी० , अवन्तिका–I, रामघाट रोड ,
अलीगढ़–202001

कला पक्षभरत तिवारी,
बी-67, एसएफएस फ्लैट्स,
शेख सराय-1, नई दिल्ली-110017
--------------------------------------------------------------
सहयोग राशि : इस अंक का मूल्य : 30/–
वार्षिक  : 350/– संस्थाओं व लाइब्रेरियों के लिए 500/–
आजीवन : 11000/–
विदेशों में वार्षिक  : 70 डॉलर ।

सदस्यता प्रपत्र डाउनलोड करें
Share on Google +
    Facebook Commment
    Blogger Comment

0 comments :

Post a Comment

osr5366