बुधवार, मार्च 04, 2015

वर्ष 2014 के “ढींगरा फाउंडेशन-हिन्दी चेतना अंतर्राष्ट्रीय साहित्य सम्मान उषा प्रियंवदा (अमेरिका), चित्रा मुद्गल और ज्ञान चतुर्वेदी (भारत) को प्रदान किए जाएंगे | Dhingra Family Foundation and Hindi Chetna International Awards to Usha Priyamvada, Chitra Mudgal, Gyan Chaturvedi


वर्ष 2014 का ढींगरा फाउंडेशन-हिन्दी चेतना अंतर्राष्ट्रीय साहित्य सम्मान  (समग्र साहित्यिक अवदान हेतु) उषा प्रियंवदा (अमेरिका), ढींगरा फाउंडेशन-हिन्दी चेतना अंतर्राष्ट्रीय प्रसिद्ध कथाकार-साहित्यकार चित्रा मुद्गल को उनके कहानी संग्रह ‘पेंटिंग अकेली है’(सामयिक प्रकाशन) और 'हम न मरब'  उपन्यास (राजकमल प्रकाशन) के लिए डॉ. ज्ञान चतुर्वेदी को सम्मानित किया जाएगा।

समारोह 30 अगस्त 2015 रविवार को मोर्रिस्विल, नार्थ कैरोलिना, अमेरिका में आयोजित किया जाएगा। पुरस्कार के अंतर्गत तीनों रचनाकारों को ‘ढींगरा फ़ाउण्डेशन-अमेरिका’ की ओर से शॉल, श्रीफल, सम्मान पत्र, स्मृति चिह्न के साथ पांच सौ डॉलर (लगभग 31 हज़ार रुपये) की सम्मान राशि और यात्रा व्यय भी दिया जाएगा।   


‘हिंदी चेतना’ की संपादक डॉ. सुधा ओम ढींगरा ने बताया - ‘ढींगरा फाउंडेशन-अमेरिका’ की स्थापना भाषा, शिक्षा, साहित्य और स्वास्थ के लिए प्रतिबद्ध संस्थाओं के साथ मिलकर कार्य करने हेतु की गई है ताकि इनके द्वारा युवा पीढ़ी और बच्चों को प्रोत्साहित कर सही मार्गदर्शन दिया जा सके। देश-विदेश की उत्तम हिंदी साहित्यिक कृतियों एवं साहित्यकारों के साहित्यिक योगदान को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित करना भी इसका उद्देश्य है। उत्तरी अमेरिका की त्रैमासिक साहित्यिक पत्रिका ‘हिंदी चेतना’  को गत 16 वर्षों से हिंदी प्रचारिणी सभा प्रकाशित कर रही है। हिंदी प्रचारिणी सभा की स्थापना1998 में हुई थी।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

गूगलानुसार शब्दांकन

loading...