भर्तृहरि (कविता) - कैलाश वाजपेयी | Bhartrihari Poem by Kailash Vajpeyi (hindi kavita sangrah)

भर्तृहरि कैलाश वाजपेयी चिड़ियाँ बूढ़ी नहीं होतीं कैलाश वाजपेयी अपनी कविता 'भर्तृहरि' का पाठ करते हुए 18 अगस्त 2013,...
Read More

कहानी: लड़कियाँ मछलियाँ नहीं होतीं - प्रज्ञा पाण्डेय | HindiKahani by Pragya Pandey

लड़कियाँ मछलियाँ नहीं होतीं  प्रज्ञा पाण्डेय  उसने एक पुरानी डायरी में वक़्त की किसी तारीख से हारकर ऐसा लिखा था । नज़र पड़ी 25 सितम्...
Read More
osr5366