'वर्तमान साहित्य' अप्रैल, 2015 | 'Vartman Sahitya', April 2015


'वर्तमान साहित्य'  अप्रैल, 2015

साहित्य, कला और सोच की पत्रिका



सदस्यता प्रपत्र डाउनलोड subscription form
सदस्यता प्रपत्र डाउनलोड करें

वर्ष 32 अंक 4  अप्रैल, 2015
सलाहकार संपादक: रवीन्द्र कालिया
संपादक: विभूति नारायण राय
कार्यकारी संपादक: भारत भारद्वाज
कला पक्ष: भरत तिवारी
-----------------------------
संपादकीय: कबिरा हम सबकी कहैं 
125वीं जयंती पर:
आचार्य रामचन्द्र शुक्ल की साहित्येतिहास दृष्टि क्या हिंदूवादी है? / डॉ. मुश्ताक अली
कहानी:
बत्तखें / दीपक शर्मा 
अपना आदमी कौन? / सुभाष शर्मा
कयास / भूमिका द्विवेदी अश्क 
स्मृति शेष:
कोई वीरानी-सी वीरानी है / भारत भारद्वाज
अश्वघोष की कमी खलेगी / हेमलता महिश्वर
सहवर्ती साहित्य:
पंजाबी साहित्य के 50 वर्ष / सुतिंदर सिंह ‘नूर’
पंजाबी कहानी:
जवां मर्द / कबीर बेदी 
कारगिल / डॉ. बलदेव सिंह धालीवाल 
मैं तेरी पहली मुहब्बत / हरजीत अटवाल
मैं तेरी पहली मुहब्बत / हरजीत अटवाल
पंजाबी कविताएं
गोलमेज 
मीडिया:
अभिव्यक्ति की आजादी बनाम बर्बरता/ प्रांजल धर
व्यंग्य:
बार बार बिहार/ सुवास कुमार 
लेख:
दलित साहित्य का शिल्प-सौंदर्य/ डॉ. चंद्रभान सिंह यादव
समीक्षा:
स्लीमैन के संस्मरण / प्रेमपाल शर्मा
स्तंभ:
तेरी मेरी सबकी बात / नमिता सिंह
पत्र

Click to launch the full edition in a new window
Publishing Software from YUDU
००००००००००००००००
Share on Google +
    Facebook Commment
    Blogger Comment

0 comments :

Post a Comment

osr5366