शुक्रवार, अगस्त 28, 2015

हैप्पी बर्थडे राजेन्द्रजी | Happy Birthday Rajendra Yadav Ji


राजेन्द्र जी के लिए 

- भरत तिवारी


तूम  वो  मिट्टी  हो,  बने भगवान  जिससे
होते   हों   पूरे   कठिन   अरमान  जिससे

भूलना   पड़ता   है   याद’  आने से  पहले
तुम तो वो अहसास,  आये  जान  जिससे

तुम तो  वो हो  छोड़  कर   जाते  नहीं  जो
तुम तो वो हो, मिलती है पहचान जिससे

शब्द   तेरे   हों   'भरत'   जब जब   लिखे
तुम्ही वो ताक़त, हुआ कुछ नाम जिससे

००००००००००००००००

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

गूगलानुसार शब्दांकन