उदय प्रकाश: कलाकार की हत्या ब्रहम की हत्या है - Uday Prakash



Artist's murder is the killing of Brahm 

Uday Prakash


संगीत या गणित कला और विज्ञान के दो सबसे विकसितम रूप है, कला का यह लक्ष्य होता है कि वह संगीत बन जाये; कविता - कहानी का यह लक्ष्य होता है कि वह अंत में उस बिंदु तक पहुँच जाए जहाँ सब कुछ संगीत
हो जाता है. समाज में भी यह लक्ष्य होता है कि उसमे संगीत की तरह समरसता आ जाये... जो संगीत में डूबा हो उसकी हत्या करना नाद में डूबे व्यक्ति की हत्या करना है... नाद ब्रहम है उसमे डूबे हुए की हत्या करना ब्रहम की हत्या है...

आप एक कलाकार की हत्या कर रहे हैं तो आप ब्रहम की हत्या कर रहे हैं जिस दिन आप यह जान जायेंगे आप किसी भी राजनीति के हिस्सेदार नहीं रहेंगे न आपको मोदी नज़र आयेंगे, न नेहरु नज़र आयेंगे, न मुलायम सिंह नज़र आयेंगे न अमित शाह नज़र आयेंगे.
- उदय प्रकाश

Uday Prakash speaks on Intolerance in India at a discussion organised by Shri Achleshwar Mahadev Mandir Foundation
श्री अचलेश्वर महादेव मन्दिर फाउण्डेशन, डाला, सोनभद्र, द्वारा आयोजित
विशेष कार्यक्रम संवाद श्रृंखला-२
समसामयिक विषय - पुरस्कार वापसी एवं उसके प्रतिरोध पर गहन संवाद
"अब क्या" ?
दिन/समय : रविवार, 15 नवम्बर, 2015 शाम 6 :00 बजे
लेक्चर हॉल - 1, एनेक्सी बिल्डिंग, इंडिया इंटरनेशनल सेंटर
वक्ता-
अशोक वाजपेयी
उदय प्रकाश
विष्णु नागर
प्रियदर्शन
ज्ञानेन्द्र भर्तरिया
Artist's murder is the killing of Brahm - Uday Prakash आप एक कलाकार की हत्या कर रहे हैं तो आप ब्रहम की हत्या कर रहे हैं जिस दिन आप यह जान जायेंगे आप किसी भी राजनीति के हिस्सेदार नहीं रहेंगे न आपको मोदी नज़र आयेंगे, न नेहरु नज़र आयेंगे, न मुलायम सिंह नज़र आयेंगे न अमित शाह नज़र आयेंगे.
००००००००००००००००



Share on Google +
    Facebook Commment
    Blogger Comment
osr5366