सोमवार, अप्रैल 13, 2015

गोश-ए-नेमत और बूढ़ा - तेजिन्दर | Travel-memoir of Pakistan - Tejinder

सोमवार, अप्रैल 13, 2015
संस्मरण... साहित्य की महत्वपूर्ण और ज़रूरी (दस्तावेज़ी तौर पर तो हर हाल में) विधा ।  लेकिन, अख़बारों और पत्रिकाओं में छपने वाले संस्मरण ...

हॉरर फिल्म 'हाशिमपुरा' - विभूति नारायण राय | 'वर्तमान साहित्य' अप्रैल, 2015 - आवरण व अनुक्रमणिका

सोमवार, अप्रैल 13, 2015
कबिरा हम सबकी कहैं विभूति नारायण राय पेशावर में आर्मी पब्लिक स्कूल के छात्रों पर हुए हमले के संदर्भ में मैंने फरवरी के अपने संप...

गूगलानुसार शब्दांकन