शुक्रवार, जुलाई 17, 2015

ईदगाह - मुंशी प्रेमचन्द | Idgah - Munshi Premchand (English)

शुक्रवार, जुलाई 17, 2015
सोच रहा था कि आज ईद के मुबारक अवसर पर बधाई किस तरह दूं। बहुत सारे विकल्प ज़ेहन में आ रहे थे मगर दिल नहीं राज़ी हो रहा था। एक ख्याल जो सब ...

तसलीमा नसरीन की कविता - अमरीका | @taslimanasreen

शुक्रवार, जुलाई 17, 2015
अमरीका ~ तस्लीमा नसरीन  कब शर्म तुम्हें आएगी अमरीका ? कब समझ तुम्हें आएगी अमरीका ? कब रोकोगे तुम ये अपना आतंकवाद अमरीका? ...

गूगलानुसार शब्दांकन