रविवार, अगस्त 23, 2015

चिड़ियाँ द चम्बा - अनवर मक़सूद | Anwar Maqsood - Chiryan Da Chamba (Hindi Lyrics)

रविवार, अगस्त 23, 2015
आँखों में नमी है  जी अजीब सा हो रहा है कई दफ़ा इसे सुन चुका - पहली ही बार में अनवर मक़सूद के बोलों ने मजबूर कर दिया, कि ...

गूगलानुसार शब्दांकन