मनोज कुमार पांडेय की कहानी 'हँसी'

Manoj Kumar Pandey Ki Kahani 'Hansi' साहित्य व्यवस्था की कमियों पर ऊँगली रखे तो अपना काम करे... मनोज कुमार पांडेय की कहानी &#...
Read More

व्यक्तित्व एवं कृतित्व के आईने में आर. पी. शर्मा — देवी नागरानी

देवतुल्य मेरे गुरु आर पी शर्मा जो आज के दिन हमें इस भँवर में छोड़ गए। उनकी याद में मेरी भावनाओं के सुमन जो अब भी ताजगी से भरपूर हैं।  ...
Read More

साहित्यकारों का फेसबुक-हमाम और अनंत विजय का लेख | Sahitya ka 'Samikaran Kal' - Anant Vijay

साहित्य का 'समीकरण काल' Sahitya ka 'Samikaran Kal' - Anant Vijay अनंत विजय के इस लेख को पढ़ने से पहले एक नज़र उन...
Read More

चे गेवारा से अबू अब्राहम की मुलाक़ात — ओम थानवी

राजनीतिक कार्टूनकारी में मुझे अबू अब्राहम से बड़ा नाम तुरंत ध्यान नहीं आता। — ओम थानवी  उनकी पंक्तियों और रेखाओं में वक्रता ही...
Read More

भारत में चे गेवारा — ओम थानवी | Bharat Mein Che Guevara — Om Thanvi

Bharat me Che Guevara Om Thanvi अर्नेस्तो ‘चे’ गेवारा सरना 30 जून, 1959 की शाम दिल्ली पहुंचे थे। वे छह महीने पहले क्यूबा में...
Read More

चे के घर में — ओम थानवी | Che Ke Ghar Mein — Om Thanvi

Che ke Ghar Me Om Thanvi हवाना में बारिश थी। हम अर्नेस्तो ‘चे’ गेवारा के घर की देहरी पर खड़े थे। हमारे तीन साथी भीगने...
Read More
osr5366