हंस में प्रकाशित कहानी 'मकतल में रहम करना' — प्रेम भारद्वाज

भयावह, जानलेवा माहौल को शब्द में कहना बहुत मुश्किल होता है. मुझे याद आता है बचपन में कभी सुना था कि 'पोटेशियम साइनाइड' इतना तेज़...
Read More

'विश्व कविता समारोह' का पुरस्कार वापसी से कोई संबंध नहीं है — अशोक वाजपेयी

इस आयोजन का पुरस्कार-वापसी से कोई संबंध नहीं है। वापसी विभिन्न भारतीय भाषाओं के लेखकों का एक स्वतःस्फूर्त अभियान था जिसका न कोई नेता थ...
Read More

कहानी — 'परिवर्तन' — अकु श्रीवास्तव — Aaku Srivastava

अवश्य पढ़िए ... लगभग चार दशक पहले लिखी गयी, वरिष्ठ पत्रकार अकु श्रीवास्तव की छोटी कहानी 'परिवर्तन' में, कही गयी 'बात' और...
Read More
osr5366