सोमवार, सितंबर 19, 2016

हंस में प्रकाशित कहानी 'मकतल में रहम करना' — प्रेम भारद्वाज

सोमवार, सितंबर 19, 2016
भयावह, जानलेवा माहौल को शब्द में कहना बहुत मुश्किल होता है. मुझे याद आता है बचपन में कभी सुना था कि 'पोटेशियम साइनाइड' इतना तेज़...

'विश्व कविता समारोह' का पुरस्कार वापसी से कोई संबंध नहीं है — अशोक वाजपेयी

सोमवार, सितंबर 19, 2016
इस आयोजन का पुरस्कार-वापसी से कोई संबंध नहीं है। वापसी विभिन्न भारतीय भाषाओं के लेखकों का एक स्वतःस्फूर्त अभियान था जिसका न कोई नेता थ...

कहानी — 'परिवर्तन' — अकु श्रीवास्तव — Aaku Srivastava

सोमवार, सितंबर 19, 2016
अवश्य पढ़िए ... लगभग चार दशक पहले लिखी गयी, वरिष्ठ पत्रकार अकु श्रीवास्तव की छोटी कहानी 'परिवर्तन' में, कही गयी 'बात' और...

गूगलानुसार शब्दांकन