मंगलवार, नवंबर 01, 2016

जनता ने चरस पी हुई है – अभिसार शर्मा | Abhisar Sharma Blog #Natstitute

मंगलवार, नवंबर 01, 2016
क्या लगता है आपको ? कि देश की जनता चरस पीए हुए है ? कि आप जो कहें वो सर्वमान्य है ? वैसे मुझे ताज्जुब है भी नहीं - अगर देश की जनता ने ...

"काश! कोई सरकार कर देती आदेश प्रेम की गलियों के चौड़ीकरण का" — प्रतिभा चौहान की कविताएँ

मंगलवार, नवंबर 01, 2016
प्रतिभा चौहान की कविताएँ Poems : Pratibha Chauhan युवा न्यायाधीश प्रतिभा चौहान की कविताओं में ताजगी है। व्यवस्था की कमियों क...

गूगलानुसार शब्दांकन