गुरुवार, मई 11, 2017

अरविंद जी आपके जवाब का इंतजार है — कपिल मिश्रा


one of aam aadmi party members)
Kapil Mishra (PTI)

आज सत्याग्रह का दूसरा दिन है / That Man is one of Aam Aadmi Party Members

— कपिल मिश्रा

आदरणीय अरविंद जी,

आज सत्याग्रह का दूसरा दिन है। आपके जवाब का इंतजार है।

कल एक बहुत अजीब बात हुई। शाम के समय एक व्यक्ति मेरे ऊपर हमला करने के हिंसक इरादे से आया। भगवान साथ है और वो कुछ खास कर नही पाया।


पर उसके तुरंत बाद जो कुछ हुआ वो बड़ा अजीब था। अभी उस व्यक्ति को पुलिस यहां से पकड़ कर लेकर भी नही जा पाई थी कि संजय सिंह जी ने एक प्रेस कांफ्रेंस करके घोषणा कर दी कि वो BJP का सदस्य है और कुछ फोटो मीडिया में release की गई। ये सबकुछ इतनी जल्दी हुआ जैसे फ़ोटो और डिटेल्स लेकर पहले से बैठे थे। आनन फानन में आपने भी उसे रिट्वीट किया।

वो व्यक्ति सत्येंद्र जैन के साथ... केजरीवाल को कपिल मिश्रा का ख़त


एक घंटे में सारा सच सामने आ गया। इतना समय लगना भी था। पर इतनी देर में आपके यहाँ से पूरी दिल्ली में AAP कार्यकर्ताओं को एक झूठ बताया गया। बड़े ही व्यवस्थित तरीके से।

अरविन्द केजरीवाल को कपिल मिश्रा का खुला ख़त  

वो व्यक्ति सत्येंद्र जैन जी के साथ मोहल्ला क्लीनिक प्रोजेक्ट में है, पार्टी का कार्यकर्ता है (one of aam aadmi party members) और मुंडका में लाकड़ा जी का प्रचार किया है उसने।

आप शायद सत्य की शक्ति को भूल गए है।

एक झूठ को सच बनाना जैसे आजकल आप EVM वाले मामले में कर रहें है, ज्यादा दिन नही चलता।

पर कल जिस तरह से फेसबुक फ़ोटो और बयान दिए गए उससे मुझे लगा ऐसा ही तो हर बार जब आप पर हमला होता था तो किया जाता था। कहीं ये खेल बहुत पुराना तो नहीं??? 

मैं आज भी अनशन पर हूँ, जब तक इन विदेश यात्राओं के सारे डिटेल्स सार्वजनिक नहीं किये जाते, मैं अनशन पर ही रहूंगा।

फिर कहना चाहता हूँ, अगर कुछ गलत नही किया, छिपाने को कुछ नही है तो ये सारी जानकारी देश को पांच मिनट में दी जा सकती है।

और हां, मेरे खिलाफ जो पूरी टीम लगाई गई है उनसे कहना पूरा जोर लगा ले पर मिलना कुछ नही। कुछ गलत किया होता तो मैं वहीं आपके साथ चुप लगाकर सब देखता रहता, कहने का साहस नही करता।

आम भारतीय को मेरा खुला ख़त — अभिसार शर्मा

मुझसे कुछ छिपा नही रहता सर। आज भगवान साथ है। आपके ही आसपास के लोग, चौकीदार, चपरासी, ड्राइवर सारा सच बता देते हैं। सरकारी अधिकारी जानकारियां भिजवा रहे हैं।

झूठ और छल की राजनीति छोड़कर सत्य की शरण मे आइये।

आपने पुनः आग्रह है कि इन विदेश यात्राओं के डिटेल्स देश को सार्वजनिक किए जाएं।

आपका

कपिल मिश्रा

(ये लेखक के अपने विचार हैं।)
००००००००००००००००

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

गूगलानुसार शब्दांकन

loading...