May 2013 - #Shabdankan

सौवीं गली का प्रवेश : दिलीप तेतरवे - कहानी (व्यंग्य)

सोमवार, मई 27, 2013 1
साहब, मैं असत्यानंद किस्सागो हूं. अभी जो स्टोरी मैं आपको सुनाने जा रहा हूं, वह सौ प्रतिशत सच है. आप मुझ में विश्वास रखें और इस स्टोरी से...
Read More

आप बहुत याद आए प्रसन्न दा - मज़कूर आलम

शुक्रवार, मई 24, 2013 0
    आज मैं अपनी बात छह अंधे और एक हाथी की कहानी से शुरू करूंगा। तो कहानी यूं है- किसी गांव में 6 अंधे आदमी रहते थे। एक दिन उन्हें पता चला...
Read More

क्या हमारे मगध की मौलिकता में कुछ कमी है? - अभय कुमार दूबे

बुधवार, मई 22, 2013 0
अभय कुमार दूबे के सम्पादन मे " विकासशील समाज अध्ययन पीठ (सीएसडीएस) / वाणी प्रकाशन " से साल मे दो बार प्रकाशित होने वाली पत्रिक...
Read More

लिखने से मुझे वह मिलता है जो आपको कभी नहीं मिला – कृष्ण बिहारी

रविवार, मई 19, 2013 0
मित्र ! आपके इस लेख पर आने और इसे पढ़ना शुरू करने के कुछ कारण जो मुझे लगते हैं वो... कि आप को - १) हिंदी साहित्य से  लगाव है , २) कृष्ण बि...
Read More
Responsive Ads Here

Pages