August 2016 - #Shabdankan

प्रशंसा सिंन्ड्रोम ग्रसित साहित्य के नुक्कड़ी विकास पुरुष — अनंत विजय | Anant Vijay

मंगलवार, अगस्त 30, 2016 1
 खुद को स्थापित करने की होड़  — अनंत विजय लेख से लेकर कविता तक, उपन्यास से लेकर कहानी तक हर जगह और हर विधा में प्रशंसाकामी ल...
Read More

गीता पंडित — बिंदास ठहाके — #राजेंद्र_यादव_जयंती

रविवार, अगस्त 28, 2016 3
यह वो चराग है जिसे बुझा सकीं ना आंधियाँ —  गीता पंडित हंस पत्रिका बहुत पहले से पढ़ती रही हूँ | उसी के माध्यम से यह भी जानती थी ...
Read More

हमारी सबसे बड़ी दिक्कत यह है कि हम औसतपन को सराहते हैं — शेखर गुप्ता

शनिवार, अगस्त 27, 2016 0
भारत दुनिया की बड़ी सूचना प्रौद्योगिकी शक्ति होने का दावा करता है जबकि उसके पास किसी बड़े सॉफ्टवेयर का पेटेंट नहीं है। आउटसोर्सिंग के ...
Read More

हंस कथा सम्मान 2016 सम्मानित — योगिता यादव की कहानी — राजधानी के भीतर बाहर

शुक्रवार, अगस्त 26, 2016 6
धीरे-धीरे रट्टू तोते की तरह मैं अंग्रेजी टेक्स्ट बुक के लैसन रटती रही। पर इतना आसान भी नहीं था सुसरी अंग्रेजी की रीढ़ तोड़ना। यह व्यवस्...
Read More
Responsive Ads Here

Pages