October 2016 - #Shabdankan
#Shabdankan

साहित्यिक, सामाजिक ई-पत्रिका Shabdankan


शिवमूर्ति की कहानी — कुच्ची का कानून — भाग 3 #कुच्ची

सोमवार, अक्तूबर 31, 2016 0
डाक्टर नर्स जा चुके हैं। लड़की अब रोने लगी है। ऊपर झुकी दाई के गले में हाथ डालने की कोशिश करते हुए अस्फुट स्वर में बुदबुदाती है— बचाई ...
और आगे...

राष्ट्रधर्म - रघुवंशमणि की (राज)नीति कथाएं

रविवार, अक्तूबर 30, 2016 0
रघुवंशमणि का पैना व्यंग्य ! राष्ट्रधर्म   -रघुवंशमणि (राज)नीति कथाएं                              ...
और आगे...

मोदी सरकारः सिर्फ एक अंक! — हरि शंकर व्यास #WorldBank #GST

शनिवार, अक्तूबर 29, 2016 1
यह लेख किसी मोदी-विरोधी ने नहीं लिखा है — ओम थानवी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की धारा के पत्रकार माने जाने वाले हरिशंकर ...
और आगे...

डॉ राकेश पाठक की कवितायेँ | Poems : Dr Rakesh Pathak #हिंदी

शुक्रवार, अक्तूबर 28, 2016 0
कविता तब बहुत आत्मीय हो जाती जब उसे पढ़ते वक़्त लगे कि जिस काल में कविता है उसी काल में, कवि के आसपास ही कहीं इत्मिनान से बैठ, कवि को वह...
और आगे...

"हां डार्लिंग, बोलो " दिल्ली मेट्रो Couple विडियो पर युवा पत्रकार सिंधुवासिनी

बुधवार, अक्तूबर 26, 2016 1
एक तरफ हमें अपनी मर्जी से साथ घूम रहे प्रेमी जोड़ों को देखकर शर्म आती है दूसरी तरफ हमारे ही समाज का एक तबका 50-100 रुपये में रेप की वि...
और आगे...

सेफ जोन से बाहर की कहानियां — 'स्वप्न, साजिश और स्त्री'

बुधवार, अक्तूबर 26, 2016 0
गीताश्री   कहानियों के सेफ जोन से परिचित होते हुए भी बार-बार रिस्क लेती हैं। कहानियों में बोल्ड विषय लेने के आरोप उन पर निराधार है। वह...
और आगे...

वैवाहिक बलात्कार है: फोन पर निकाह और तलाक़-तलाक़-तलाक़ — डॉ सुजाता मिश्र #TripleTalaq

सोमवार, अक्तूबर 24, 2016 0
ट्रिपल तलाक़ के मुद्दे पर भारत में जिस तरह की दुविधा का माहौल है, जिस तरह अधिकतर लोगों ने 'नेताओं वाली चुप्पी' ओढ़ी हुई है, उसे समझन...
और आगे...

#सरकार_राज — राजदीप सरदेसाई | #SarkarRaj — @sardesairajdeep #ADHM

सोमवार, अक्तूबर 24, 2016 0
टीआरपी संविधान के ब्योरों से कहीं अधिक माने रखती है... Brazenness with which Raj has proven that he is an extra-constitutional Sark...
और आगे...

सरकार छिपाती है और पत्रकार को खोजना होता है — शेखर गुप्ता

गुरुवार, अक्तूबर 20, 2016 0
इंडिया टुडे के करण थापर ही एकमात्र एेसे पत्रकार थे, जिन्होंने सवाल उठाया कि कैसे चार गैर-सैनिक ब्रिगेड मुख्यालय की सारी सुरक्षा क...
और आगे...

#Shabdankan

↑ Grab this Headline Animator

लोकप्रिय पोस्ट