August 2013 - #Shabdankan
#Shabdankan

साहित्यिक, सामाजिक ई-पत्रिका Shabdankan


प्रथम हंस कथा सम्मान (तस्वीरें)

Friday, August 30, 2013 0
प्रथम  हंस कथा सम्मान (वर्ष 2012-13) के लिए कथाकार किरण सिंह का चयन किया गया.  28 अगस्त 2013 को राजधानी दिल्ली के इंडिया इंटरनेशनल सेंटर ...
और आगे...

कहानी: हव्वा की बेटी - जयश्री रॉय

Friday, August 30, 2013 0
" लो जान, हम तुमको पकाने फिर से आ गये... " कहते हुये राहिला की कत्थई आंखें हमेशा की तरह शरीर कौंध से भरी हुई थी. मैं सुबह की चाय...
और आगे...

भूमंडलीकरण की सौगातें - रवीन्द्र कालिया

Thursday, August 29, 2013 0
औद्योगिक क्षेत्र में चाहे चीन अन्य एशियाई देशों से कहीं अधिक उन्नति कर गया हो परन्तु उसकी सामाजिक संरचना अन्य विकासशील देशों से भिन्न नहीं...
और आगे...

नपुंसक समय में प्रेम और हिंसा साथ साथ चलते हैं - गीताश्री

Monday, August 26, 2013 0
प्रेम की दुनिया का अंत क्या अंधेरे में ही होना हुआ हमारे झलक भर देखे बगैर उन बादलो के बीच चांद का उजाला जहां पूरता है आसमान ( ओ...
और आगे...

#Shabdankan

↑ Grab this Headline Animator