#Shabdankan
#Shabdankan

साहित्यिक, सामाजिक ई-पत्रिका Shabdankan


ताज़ा है

ममता कालिया

संपाद्य्कम

ताज़ा तरीनमः

अधिकम्

नीलिमा चौहान, डीन, ऑफिशियली पतनशील यूनिवर्सिटी ऑफ़ इंटायर हिंदी साहित्य

Thursday, September 19, 2019 1
नीलिमा चौहान, डीन, ऑफिशियली पतनशील यूनिवर्सिटी ऑफ़ इंटायर हिंदी साहित्य — पतनशीलता एक तेवर, एक जश्न, एक उद्घोष हाल के दो सालों ...
और आगे...

दुष्यंत की कहानी: तीसरे कमरे की छत, पांचवीं सीढ़ी और बारहवां सपना

Tuesday, September 17, 2019 0
दुष्यंत की कहानी: तीसरे कमरे की छत, पांचवीं सीढ़ी और बारहवां सपना मानव पीड़ाएँ अगर प्राकृतिक हो सकती हैं और अपने ऊपर कहानियाँ लिखव...
और आगे...

दलित साहित्य का स्वरूप निखारती, अजय नावरिया की रोचक रूमानी कहानी "आवरण"

Wednesday, September 11, 2019 0
" जाति एक सच है परंतु उस के भीतर वर्ग भी साँस लेता है, किसी गर्भस्थ शिशु की तरह। ", दलित साहित्य का स्वरूप निखारती, अजय नाव...
और आगे...

राजेंद्र यादव हंस कथा सम्मान 2019 : अनिल यादव की कहानी "गौसेवक "

Monday, September 02, 2019 0
धामा अपने गुस्से को छिपाकर अचानक संयत हो गया. उसने कपट की अधिकता से हल्की हो गई आवाज में कहा, "देख रहे हैं सर...आप भी देखते ...
और आगे...

#Shabdankan

↑ Grab this Headline Animator