बहीखाता - तेजेन्द्र शर्मा Bahikhata : Tejinder Sharma - #Shabdankan
#Shabdankan

साहित्यिक, सामाजिक ई-पत्रिका Shabdankan


osr 1625

बहीखाता - तेजेन्द्र शर्मा Bahikhata : Tejinder Sharma

Share This

बहीखाता 

तेजेन्द्र शर्मा


(शब्दांकन उपस्तिथि) 

जन्म / बचपन :

21 अक्टूबर 1952 को पंजाब के शहर जगरांव के रेल्वे क्वार्टरों में। पिता वहां के सहायक स्टेशन मास्टर थे। उचाना, रोहतक (अब हरयाणा में) व मौड़ मंडी में बचपन के कुछ वर्ष बिता कर 1960 में पिता का तबादला उन्हें दिल्ली ले आया । पंजाबी भाषी तेजेन्द्र शर्मा की स्कूली पढ़ाई दिल्ली के अंधा मुग़ल क्षेत्र के सरकारी स्कूल में हुई।

शिक्षा:

दिल्ली विश्विद्यालय से एम.ए. अंग्रेज़ी, कम्पयूटर कार्य में डिप्लोमा ।

प्रकाशित कृतियां :

काला सागर (वाणी प्रकाशन - 1990) ढिबरी टाईट (वाणी प्रकाशन - 1994), देह की कीमत (वाणी प्रकाशन - 1999) यह क्या हो गया ! (डायमण्ड बुक्स - 2003), बेघर आंखें (अरू प्रकाशन - 2007), सीधी रेखा की परतें (वाणी प्रकाशन - 2009 - तेजेन्द्र शर्मा की समग्र कहानियां भाग-1),  क़ब्र का मुनाफ़ा (सामयिक प्रकाशन - 2010), दीवार में रास्ता (वाणी प्रकाशन - 2012), मेरी प्रिय कथाएं (ज्योतिपर्व - 2014), प्रतिनिधि कहानियां (किताबघर - 2014) सभी कहानी संग्रह ।   ये घर तुम्हारा है... (मेधा बुक्स - 2007 - कविता एवं ग़ज़ल संग्रह)।

अनूदित कृतियां :

Grave Profits (अंग्रेज़ी - कहानियां), Building Bridges – ( Bilingual Poems) ढिबरी टाइट, एवं कल फेर आंवीं नाम से पंजाबी, इँटों का जंगल नाम से उर्दू तथा पासपोर्ट का रंगहरू नाम से नेपाली में भी उनकी अनूदित कहानियों के संग्रह प्रकाशित हुए हैं। तेजेन्द्र शर्मा की कहानियां उड़िया, मराठी, गुजराती, चेक भाषा एवं अंग्रेज़ी में भी अनूदित हो चुकी हैं।

संपादन – समुद्र पार रचना संसार (2008) (21 प्रवासी लेखकों की कहानियों का संकलन)। यहां से वहां तक – (2006-ब्रिटेन के कवियों का कविता संग्रह), ब्रिटेन में उर्दू क़लम (2010), समुद्र पार हिन्दी ग़ज़ल (2011), प्रवासी संसार – कथा विशेषांक (2011)। सृजन संदर्भ पत्रिका का प्रवासी साहित्य विशेषांक (2012)। देशान्तर – प्रवासी कहानी संग्रह (दिल्ली हिन्दी अकादमी – 2012)


लन्दन से प्रकाशित पत्रिका पुरवाई का दो वर्षों तक संपादन।

अंग्रेज़ी में : 1. Building Bridges (A collection of bilingual poems – 2014), 2. Grave Profits (Collection of Short Stories – 2013); 2. Black & White (biography of a banker – 2007),  3. Lord Byron - Don Juan (1976),  4. John Keats - The Two Hyperions (1977)

*कहानी अभिशप्त चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय, मेरठ के एम.ए. हिन्दी के पाठ्यक्रम में शामिल। और कहानी पासपोर्ट का रंग गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय, नोयडा के एम.ए. हिन्दी के पाठ्यक्रम में शामिल।


तेजेन्द्र शर्मा के लेखन पर उपलब्ध पुस्तकें

1. तेजेन्द्र शर्मा – वक़्त के आइने में (संपादकः हरि भटनागर), 2. रचना समय – तेजेन्द्र शर्मा विशेषांक (संपादकः हरि भटनागर), 3. बातें (तेजेन्द्र शर्मा के साक्षात्कार) – संपादकः मधु अरोड़ा 4. हिन्दी की वैश्विक कहानी (संदर्भ तेजेन्द्र शर्मा का रचना संसार) – संपादकः नीना पॉल। 5. कथा त्रिकोण – संपादक श्रीनिवास श्रीकान्त (एस.आर हरनोट, मनीषा कुलश्रेष्ठ एवं तेजेन्द्र शर्मा का लेखन संसार)

अन्य लेखन:

दूरदर्शन के लिये शांति सीरियल का लेखन ।

गतिविधियां :

अन्नु कपूर द्वारा निर्देशित फ़िल्म अभय में नाना पाटेकर के साथ अभिनय। बी.बी.सी. लंदन, ऑल इंडिया रेडियो, व दूरदर्शन से कार्यक्रमों की प्रस्तुति, नाटकों में भाग एवं समाचार वाचन।
ऑल इंडिया रेडियो, व सनराईज़ रेडियो लंदन से बहुत सी कहानियों का प्रसार‌ण ।

पुरस्कार/सम्मान: भारत

1. केन्द्रीय हिन्दी संस्थान, आगरा का डॉ. मोटुरी सत्यनारायण सम्मान – 2011.
2. यू.पी. हिन्दी संस्थान का प्रवासी भारतीय साहित्य भूषण सम्मान 2013.
3. हरियाणा राज्य साहित्य अकादमी सम्मान - 2012
4. ढिबरी टाइट के लिये महाराष्ट्र राज्य साहित्य अकादमी पुरस्कार  - 1995 प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी के हाथों ।
5. सहयोग फ़ाउंडेशन का युवा साहित्यकार पुरस्कार - 1998
6. सुपथगा सम्मान - 1987
7. प्रथम संकल्प साहित्य सम्मान – दिल्ली (2007)
8. तितली बाल पत्रिका का साहित्य सम्मान – बरेली (2007) 


पुरस्कार/सम्मान: विदेश

1. भारतीय उच्चायोग, लन्दन द्वारा डॉ. हरिवंशराय बच्चन सम्मान (2008).
2. कृति यू.के. द्वारा वर्ष 2002 के लिये बेघर आंखें  को सर्वश्रेष्ठ कहानी का पुरस्कार।




संप्रतिः ब्रिटिश रेल (लंदन ओवरग्राउण्ड) में कार्यरत।

संपर्क : 33-A, Spencer Road, Harrow & Wealdstone, Middlesex HA3 7AN (United Kingdom).
Mobile: 00-44-7400313433

1 टिप्पणी:

  1. आपको पढ़ कर बेहद सुखानुभूति हुयी.. आप हमारी साहित्यिक परंपरा के सशक्त हस्ताक्षर हैं।
    आपको और आपके अतुलनीय लेखन को शतशः नमन.. वंदन।
    कभी मुलाकात की प्रत्याशा में..
    डा.हेमलता सुमन
    एसोसिएट प्रोफेसर हिन्दी
    नारायण कालेज
    शिकोहाबाद

    उत्तर देंहटाएं

#Shabdankan

↑ Grab this Headline Animator

लोकप्रिय पोस्ट