February 2015 - #Shabdankan
#Shabdankan

साहित्यिक, सामाजिक ई-पत्रिका Shabdankan


मन्नू भंडारी: कहानी - ईसा के घर इंसान Manu Bhandari - Hindi Kahani - Isa Ke Ghar Insaan

Saturday, February 28, 2015 2
ईसा के घर इंसान मन्नू भंडारी फाटक के ठीक सामने जेल था। बरामदे में लेटी मिसेज़ शुक्ला की शून्य नज़रें जेल की ऊँची-ऊँची दीवारों ...
और आगे...

विपक्ष हाशिए से बाहर और देश के बुद्धिजीवी चुप - अरविन्द जैन

Wednesday, February 25, 2015 0
संविधान, देश और अध्यादेश अरविन्द जैन      दिल्ली से आते हैं-       आदेश !      अध्यादेश !!  आठ महीने में, आठ अध्यादेश। संसद मे...
और आगे...

'मेरी कविता मेरे जुनून' - रेणु हुसैन की पाँच कवितायेँ (hindi kavita sangrah)

Wednesday, February 25, 2015
रेणु हुसैन की पाँच कवितायेँ मेरी कविता मेरे जुनून मैंने लिखी थी एक कविता तुम पर तुम्हें सुनाना चाहती थी, रेणु हुसैन के कविता स...
और आगे...

चर्चित कहानी बनाम प्रिय कहानी - मामला आगे बढ़ेगा अभी : चित्रा मुद्गल

Tuesday, February 24, 2015 0
यह अक्सर देखा गया है कि हिंदी में कोई एक कहानी किसी लेखक के साथ कुछ इस तरह बावस्ता हो जाती है कि जहां कहीं भी उस लेखक की चर्चा होती है वही ...
और आगे...

एक संवादधर्मी क्रांतिकारी संत का जाना - प्रो. तुलसी राम को याद करते, गंगा सहाय मीणा

Wednesday, February 18, 2015 0
एक संवादधर्मी क्रांतिकारी संत का जाना गंगा सहाय मीणा  प्रो. तुलसी राम का जाना एक दलित लेखक का जाना मात्र नहीं है, बल्कि यह बुद्ध...
और आगे...

कहानी: हाँ मेरी बिट्टु - हृषीकेश सुलभ

Saturday, February 14, 2015 0
प्रेम के रंग कहाँ पकड़ आते हैं, कभी पानी का तो कभी आग का, कभी आकाश का नीलापन तो कभी गोधुलि... कथाकार 'हृषीकेश सुलभ' को बहुत अच्छी...
और आगे...

#Shabdankan

↑ Grab this Headline Animator