advt

परिचय: ज़किया ज़ुबैरी

दिस॰ 12, 2012


ज़किया ज़ुबैरी


जन्मः  01 अप्रैल;   
स्थानः लखनऊ
मातृ भाषाः हिन्दी,  
बचपन एवं स्कूली शिक्षाः आज़मगढ़, इलाहाबाद।
शिक्षाः स्नातक, बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय।

सहज सरल स्वभाव की विदुषी ज़किया जी को बचपन से ही सृजनात्मक लेखन एवं चित्रकारी में रुचि रही है। आप हिंदी, अंग्रेज़ी एवं उर्दू तीनों भाषाओं में समान अधिकार रखती हैं। ज़क़िया जी की रचनाएं पत्रिकाओं एवं समाचार पत्रों में प्रकाशित होती रहती हैं। आपकी भाषा में गंगा जमुनी तहज़ीब की सुगंध है। ज़किया जी ने कम किंतु स्तरीय लिखा है। ज़किया जी उन लेखिकाओं में से हैं जो स्वयं को प्रमोट न कर दूसरे लेखकों को मंच प्रदान करने में संतुष्टि महसूस करती हैं। आप एशियन कम्यूनिटी आर्ट्स नाम की संस्था की अध्यक्षा हैं। आपने नृत्य, संगीत, गीत एवं लेखन क्षेत्र में बहुत से नये नर्तकों, गायकों, एवं लेखकों को लंदन में मंच प्रदान करवाया है।
लेबर पार्टी के टिकट पर तीन बार चुनाव जीतने वाली ज़किया जी लंदन के बारनेट संसदीय क्षेत्र के कॉलिंडेल वार्ड की पहली और एकमात्र मुस्लिम महिला काउंसलर हैं। आप ग़रीबों और कमज़ोरों की लड़ाई पूरी शिद्दत से लड़ती हैं और उन्हें सरकार से उनके हक़ दिलवाने के सफल प्रयास करती हैं।
आपने हिन्दी और उर्दू के साथ-साथ भारत और पाकिस्तान बीच की दूरियां पाटने के लिये बहुत से प्रयास किये हैं। आप साहित्य के माध्यम से इन दूरियों को पाटने में विश्वास रखती हैं।
आप ने लंदन में बसे गायक शमील चौहान द्वारा गाई एवं संगीतबद्ध की ग़ज़लों की सी.डी. जारी की। इसके साथ साथ हिन्दी लेखकों की कहानियों का उर्दू में अनुवाद एवं पुस्तक रूप में प्रकाशन कराया और उनकी ऑडियो सीडी भी बनवाईं। आपने ब्रिटेन के उर्दू लेखकों की कहानियां हिंदी में अनुवाद करवा कर  संपादित किया है और ब्रिटेन की उर्दू क़लम के नाम से प्रकाशित किया है। विश्व भर के हिन्दी ग़ज़लकारों के ग़ज़लों के संग्रह समुद्र पार हिन्दी ग़ज़ल का संपादन किया है।
जनवरी 2007 में खाड़ी हिन्दी सम्मेलन में ज़किया ज़ुबैरी ने हिन्दी एवं उर्दू के बीच की दूरियों को घटाने के लिये महत्वपूर्ण सुझाव दिए। कहानी मेरे हिस्से की धूप के लिए आपको इंटरनेट पत्रिका अभिव्यक्ति ने वर्ष 2008 में पांच हज़ार रुपए का पुरस्कार दिया। आपकी कहानियाँ हँस, गगनांचल एवं रचना समय जैसी पत्रिकाओं में प्रकाशित होती रहती है।
संप्रतिः काउँसिलर, बॉरो ऑफ बारनेट-लंदन
संपर्कः 115 The Reddings, Mill Hill, London NW7 4JP.
ई-मेलः zakiiaz@gmail.com
दूरभाषः (मोबाइल) – 00-44-(0)7957353390

ये पढ़े क्या?

{{posts[0].title}}

{{posts[0].date}} {{posts[0].commentsNum}} {{messages_comments}}

{{posts[1].title}}

{{posts[1].date}} {{posts[1].commentsNum}} {{messages_comments}}

{{posts[2].title}}

{{posts[2].date}} {{posts[2].commentsNum}} {{messages_comments}}

{{posts[3].title}}

{{posts[3].date}} {{posts[3].commentsNum}} {{messages_comments}}

ये कुछ आल टाइम चर्चित

कहानी: दोपहर की धूप - दीप्ति दुबे | Kahani : Dopahar ki dhoop - Dipti Dubey

अरे! देखिए वो यहाँ तक कैसे पहुंच गई... उसने जल्दबाज़ी में बाथरूम का नल बंद कि…

जनता ने चरस पी हुई है – अभिसार शर्मा | Abhisar Sharma Blog #Natstitute

क्या लगता है आपको ? कि देश की जनता चरस पीए हुए है ? कि आप जो कहें वो सर्व…

मुसलमान - मीडिया का नया बकरा ― अभिसार शर्मा #AbhisarSharma

अभिसार शर्मा का व्यंग्य मुसलमान - मीडिया का नया बकरा …

गुलज़ार की 10 शानदार कविताएं! #Gulzar's 10 Marvellous Poems

गुलज़ार की 10 बेहतरीन कविताएं! जन्मदिन मनाइए: पढ़िए नज़्म छनकती है...  गीतका…

मन्नू भंडारी: कहानी - अकेली Manu Bhandari - Hindi Kahani - Akeli

अकेली (कहानी) ~ मन्नू भंडारी सोमा बुआ बुढ़िया है।  …

कहानी "आवारा कुत्ते" - सुमन सारस्वत

रेवती ने जबरदस्ती आंखें खोलीं। वह और सोना चाहती थी। परंतु वॉर्ड के बाहर…

चतुर्भुज स्थान की सबसे सुंदर और महंगी बाई आई है

शहर छूटा, लेकिन वो गलियां नहीं! — गीताश्री आखिर बाईजी का नाच शुर…

प्रेमचंद के फटे जूते — हरिशंकर परसाई Premchand ke phate joote hindi premchand ki kahani

premchand ki kahani  प्रेमचंद के फटे जूते premchand ki kahani — …

अनामिका की कवितायेँ Poems of Anamika

अनामिका की कवितायेँ   Poems of Anamika …

कायरता मेरी बिरादरी के कुछ पत्रकारों की — अभिसार @abhisar_sharma

मैं सोचता हूँ के मोदीजी जब 5, 10 या 15 साल बाद देश के प्रधानमंत्री नहीं …

साल दर साल

एक साल से पढ़ी जाती हैं

कहानी "आवारा कुत्ते" - सुमन सारस्वत

रेवती ने जबरदस्ती आंखें खोलीं। वह और सोना चाहती थी। परंतु वॉर्ड के बाहर…

चतुर्भुज स्थान की सबसे सुंदर और महंगी बाई आई है

शहर छूटा, लेकिन वो गलियां नहीं! — गीताश्री आखिर बाईजी का नाच शुर…

प्रेमचंद के फटे जूते — हरिशंकर परसाई Premchand ke phate joote hindi premchand ki kahani

premchand ki kahani  प्रेमचंद के फटे जूते premchand ki kahani — …

हिंदी कहानी : उदय प्रकाश — तिरिछ | uday prakash poetry and stories

उदय प्रकाश की कहानी  तिरिछ  तिरिछ में उदय प्रकाश अपने नायक से कहल…

मन्नू भंडारी: कहानी - अकेली Manu Bhandari - Hindi Kahani - Akeli

अकेली (कहानी) ~ मन्नू भंडारी सोमा बुआ बुढ़िया है।  …

हिन्दी सिनेमा की भाषा - सुनील मिश्र

आलोचनात्मक ढंग से चर्चा में आयी अनुराग कश्यप की दो भागों में पूरी हुई फिल…

गुलज़ार की 10 शानदार कविताएं! #Gulzar's 10 Marvellous Poems

गुलज़ार की 10 बेहतरीन कविताएं! जन्मदिन मनाइए: पढ़िए नज़्म छनकती है...  गीतका…

अनामिका की कवितायेँ Poems of Anamika

अनामिका की कवितायेँ   Poems of Anamika …

महादेवी वर्मा की कहानी बिबिया Mahadevi Verma Stories list in Hindi BIBIYA

बिबिया —  महादेवी वर्मा की कहानी  mahadevi verma stories list in hind…