निदा फ़ाज़ली की शायरी से इतर — अब कहाँ दूसरे के दुख से दुखी होने वाले |

June 02, 2019
निदा फ़ाज़ली की शायरी से इतर — अब कहाँ दूसरे के दुख से दुखी होने वाले गर्मी है. बच्चों की छुट्टी है. आज सूरज को दिल्ली को ४० डि...Read More
Powered by Blogger.