advt

अक्तूबर, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

कितनी कमज़ोर थी हमारी तैयारी, और आगे और भी कमज़ोर है - अशोक गुप्ता | Ashok Gupta on Rajendra Yadav

अक्तू॰ 30, 2013 0 comments

कितनी कमज़ोर थी हमारी तैयारी, और आगे और भी कमज़ोर है अशोक गुप्ता  दुनिया में मौत से बड़ा सच और कोई नहीं है. अगर अकाल मृत्यु की बात छोड़ दे...

हूं मैं जैसा तुमने कर डाला - प्रेम भारद्वाज | Prem Bhardwaj on Rajendra Yadav

अक्तू॰ 29, 2013 0 comments

'पाखी' के राजेंद्र यादव पर केंद्रित सितंबर-2011 अंक के संपादकीय का किंचित संशोधित प्रारूप। 29 अक्टूबर 2013 को राजेंद्र यादव के देह...

गुलज़ार: को-पायलट* | #Gulzar : Co-pilot

अक्तू॰ 27, 2013 0 comments

को-पायलट* गुलज़ार बहुत कम लोग थे फ्लाइट में, और वो था उस आधी रात की फ्लाइट में कम ही लोग होते हैं अँधेरे में चले थे हम, मगर क...

प्रांजल धर की बिल्कुल नयी और अप्रकाशित कविताएँ | Poetry : Pranjal Dhar

अक्तू॰ 26, 2013 2 comments

प्रांजल धर 2710, भूतल डॉ. मुखर्जी नगर, दिल्ली – 110009 मोबाइल - 09990665881 प्रांजल धर की बिल्कुल नयी  और अप्रकाशित कविताएँ ...

परिचय: प्रांजल धर

अक्तू॰ 26, 2013 0 comments

प्रांजल धर  जन्म – मई 1982 ई. में, उत्तर प्रदेश के गोण्डा जिले के ज्ञानीपुर गाँव में। शिक्षा – जनसंचार एवं पत्रकारिता में परास्नातक। ...

रवीश की रपट में फिल्म 'शाहिद' | Movie Review of 'Shahid' by Ravish Kumar

अक्तू॰ 25, 2013 0 comments

"वो लोग तुम्हें अतीत में जीने के लिए मजबूर करेंगे लेकिन तुमको आने वाले कल के लिए जीना होगा ।" शाहिद की ज़िंदगी से दूर जा चुकी मर...

मनीषा पांडेय - जीवन की छोटी-मामूली बातें | Manisha Pandey

अक्तू॰ 24, 2013 9 comments

यूं तो मनीषा के परिचय में काफी चीजें कही जा सकती हैं। वो पेशे से पत्रकार हैं, राइटर हैं, ब्‍लॉगर हैं, फेसबुक पर स्त्रियों की उभरती हुई ...

जयप्रकाश फकीर (फकीर जय) की "करेजा" व अन्य कवितायेँ | Poetry: Jayprakash Faqir (faqir Jay)

अक्तू॰ 23, 2013 1 comments

जयप्रकाश फकीर बी टेक, एम टेक, एम ए सम्प्रति : भारत सरकार में उच्चाधिकारी संपर्क : non_conformist_jay@yahoo.com चाँद की तस्वीर ...

वर्तिका नन्दा / वर्तिका नंदा की कवितायेँ | Poetry : Vartika Nanda

अक्तू॰ 23, 2013 1 comments

चुप्पी   :: 1 ::  हर औरत लिखती है कविता हर औरत के पास होती है एक कविता हर औरत होती है कविता कविता लिखते-लिखते एक दिन खो जाती है...

कवितायेँ : विजया कान्डपाल | Poetry : Vijaya Kandpal

अक्तू॰ 22, 2013 0 comments

कवितायेँ : विजया कान्डपाल   देहरादून में जन्मीं स्वतंत्र पत्रकार विजया कान्डपाल अंग्रेज़ी व हिन्दी में लिखती हैं, इनकी रचनायें हिन्दी व...

युवा कथाकार हितेन्द्र पटेल के उपन्यास ‘चिरकुट’ पर चर्चा : पुखराज जाँगिड़ | Hitendra Patel's Novel 'Chirkut'

अक्तू॰ 22, 2013 0 comments

“ देर से ही सही पर अब हिन्दी में भी नये समय की चुनौतियों का सामना करने के लिए नये तरीके से सोचने और काम करने का समय आ गया है। अब हिन्दी मे...

load more
no more posts

ये कुछ आल टाइम चर्चित

कहानी: दोपहर की धूप - दीप्ति दुबे | Kahani : Dopahar ki dhoop - Dipti Dubey

अरे! देखिए वो यहाँ तक कैसे पहुंच गई... उसने जल्दबाज़ी में बाथरूम का नल बंद कि…

जनता ने चरस पी हुई है – अभिसार शर्मा | Abhisar Sharma Blog #Natstitute

क्या लगता है आपको ? कि देश की जनता चरस पीए हुए है ? कि आप जो कहें वो सर्व…

मुसलमान - मीडिया का नया बकरा ― अभिसार शर्मा #AbhisarSharma

अभिसार शर्मा का व्यंग्य मुसलमान - मीडिया का नया बकरा …

गुलज़ार की 10 शानदार कविताएं! #Gulzar's 10 Marvellous Poems

गुलज़ार की 10 बेहतरीन कविताएं! जन्मदिन मनाइए: पढ़िए नज़्म छनकती है...  गीतका…

मन्नू भंडारी: कहानी - अकेली Manu Bhandari - Hindi Kahani - Akeli

अकेली (कहानी) ~ मन्नू भंडारी सोमा बुआ बुढ़िया है।  …

कहानी "आवारा कुत्ते" - सुमन सारस्वत

रेवती ने जबरदस्ती आंखें खोलीं। वह और सोना चाहती थी। परंतु वॉर्ड के बाहर…

चतुर्भुज स्थान की सबसे सुंदर और महंगी बाई आई है

शहर छूटा, लेकिन वो गलियां नहीं! — गीताश्री आखिर बाईजी का नाच शुर…

प्रेमचंद के फटे जूते — हरिशंकर परसाई Premchand ke phate joote hindi premchand ki kahani

premchand ki kahani  प्रेमचंद के फटे जूते premchand ki kahani — …

अनामिका की कवितायेँ Poems of Anamika

अनामिका की कवितायेँ   Poems of Anamika …

कायरता मेरी बिरादरी के कुछ पत्रकारों की — अभिसार @abhisar_sharma

मैं सोचता हूँ के मोदीजी जब 5, 10 या 15 साल बाद देश के प्रधानमंत्री नहीं …

साल दर साल

एक साल से पढ़ी जाती हैं

कहानी "आवारा कुत्ते" - सुमन सारस्वत

रेवती ने जबरदस्ती आंखें खोलीं। वह और सोना चाहती थी। परंतु वॉर्ड के बाहर…

चतुर्भुज स्थान की सबसे सुंदर और महंगी बाई आई है

शहर छूटा, लेकिन वो गलियां नहीं! — गीताश्री आखिर बाईजी का नाच शुर…

प्रेमचंद के फटे जूते — हरिशंकर परसाई Premchand ke phate joote hindi premchand ki kahani

premchand ki kahani  प्रेमचंद के फटे जूते premchand ki kahani — …

हिंदी कहानी : उदय प्रकाश — तिरिछ | uday prakash poetry and stories

उदय प्रकाश की कहानी  तिरिछ  तिरिछ में उदय प्रकाश अपने नायक से कहल…

मन्नू भंडारी: कहानी - अकेली Manu Bhandari - Hindi Kahani - Akeli

अकेली (कहानी) ~ मन्नू भंडारी सोमा बुआ बुढ़िया है।  …

गुलज़ार की 10 शानदार कविताएं! #Gulzar's 10 Marvellous Poems

गुलज़ार की 10 बेहतरीन कविताएं! जन्मदिन मनाइए: पढ़िए नज़्म छनकती है...  गीतका…

हिन्दी सिनेमा की भाषा - सुनील मिश्र

आलोचनात्मक ढंग से चर्चा में आयी अनुराग कश्यप की दो भागों में पूरी हुई फिल…

अनामिका की कवितायेँ Poems of Anamika

अनामिका की कवितायेँ   Poems of Anamika …

महादेवी वर्मा की कहानी बिबिया Mahadevi Verma Stories list in Hindi BIBIYA

बिबिया —  महादेवी वर्मा की कहानी  mahadevi verma stories list in hind…