head advt

अक्तूबर, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैंसभी दिखाएं
कितनी कमज़ोर थी हमारी तैयारी, और आगे और भी कमज़ोर है - अशोक गुप्ता | Ashok Gupta on Rajendra Yadav
हूं मैं जैसा तुमने कर डाला - प्रेम भारद्वाज |  Prem Bhardwaj on Rajendra Yadav
गुलज़ार: को-पायलट* | #Gulzar : Co-pilot
प्रांजल धर की बिल्कुल नयी और अप्रकाशित कविताएँ | Poetry : Pranjal Dhar
परिचय: प्रांजल धर
रवीश की रपट में फिल्म 'शाहिद'  | Movie Review of 'Shahid' by Ravish Kumar
मनीषा पांडेय - जीवन की छोटी-मामूली बातें | Manisha Pandey
जयप्रकाश फकीर (फकीर जय) की "करेजा" व अन्य कवितायेँ | Poetry: Jayprakash Faqir (faqir Jay)
वर्तिका नन्दा / वर्तिका नंदा की कवितायेँ | Poetry : Vartika Nanda
कवितायेँ : विजया कान्डपाल | Poetry : Vijaya Kandpal
युवा कथाकार हितेन्द्र पटेल के उपन्यास ‘चिरकुट’ पर चर्चा : पुखराज जाँगिड़ | Hitendra Patel's Novel 'Chirkut'