Header Ads

हुसेन की यादें — विनोद भारद्वाज संस्मरणनामा - 19: | Vinod Bhardwaj on Maqbool Fida Husain

May 26, 2020
कलात्मक संस्मरणनामा ,  मक़बूल फ़िदा हुसैन साहब से अपने संबंध की लम्बी यात्रा को  विनोद भारद्वाज जी ने हुसैन की यादों में पूरी ...Read More

बेगम समरू का सच | रवीन्द्र त्रिपाठी के साथ एक पुस्तक पर 5 मिनट. भरत एस तिवारी की प्रस्तुति

May 25, 2020
शब्दांकन फेसबुक लाइव:  बेगम समरू का सच #शब्दांकन_फेसबुक_लाइव: रवीन्द्र त्रिपाठी के साथ एक पुस्तक पर 5 मिनट | बेगम समरू का स...Read More

Book Review: योगिता यादव का उपन्यास — 'ख्वाहिशों के खांडववन' | उर्मिला शुक्ल

May 25, 2020
योगिता यादव के  सामयिक प्रकाशन से छपे उपन्यास ' ख्वाहिशों के खांडववन ' की समीक्षा करते हुए उर्मिला शुक्ल लिखती हैं: योग...Read More

शब्दांकन फेसबुक लाइव | रवीन्द्र त्रिपाठी के साथ 'एक पुस्तक पर 5 मिनट' | तू प्यार का सागर है

May 25, 2020
शब्दांकन फेसबुक लाइव:  रवीन्द्र त्रिपाठी के साथ एक पुस्तक पर 5 मिनट गीतकार शैलेन्द्र पर इंद्रजीत सिंह की एक पुस्तक "तू प्य...Read More

आरम्भ, नरेश सक्सेना और जयकृष्ण — विनोद भारद्वाज संस्मरणनामा - 18: | Vinod Bhardwaj on Aarambh

May 24, 2020
सच वाला बेमिसाल संस्मरण ।  कल के संस्मरणनामा में विनोद जी ने जब लिखा कि, 'ये मेरी कोविद लॉकडाउन डायरी की विदाई किस्त है,...Read More

श्रीलाल शुक्ल की यादें — विनोद भारद्वाज संस्मरणनामा - 17: | Vinod Bhardwaj on Shrilal Shukla

May 23, 2020
विनोद भारद्वाजजी के संस्मरणनामा उनकी तरह ही बेबाक हैं. इस बार वाले, श्रीलाल शुक्ल की यादें में वह लिखते हैं अब आगे और नहीं... शाय...Read More

विष्णु कुटी और कुँवर नारायण की यादें — विनोद भारद्वाज संस्मरणनामा - 16: | Vinod Bhardwaj on Kunwar Narain

May 22, 2020
कुँवर नारायण  के उस घर में  अमीर खान, जसराज, कारंत, संयुक्ता पाणिग्रही , अज्ञेय , अलकाजी  जैसे कई नाम  कुँवर नारायण  के ख़ास मेहम...Read More

केदारनाथ सिंह की यादें — विनोद भारदवाज संस्मरणनामा - 15: | Vinod Bhardwaj on Kedarnath Singh

May 21, 2020
विनोद भारद्वाज जी अपने बहुचर्चित स्तंभ 'संस्मरणनामा' में इस दफ़ा केदारनाथ सिंह जी की यादें हम सब से साझा कर रहे हैं...    Read More

Hindi Story: "नंदीग्राम के चूहे" मधु कांकरिया की हिंदी कहानी | बेस्ट ऑव नया ज्ञानोदय

May 21, 2020
हिंदी साहित्य को धकियाती  क्षेत्रीय, जातीय, नस्ली, स्त्री बनाम पुरुष, कविता कि कहानी तिस पर लेखन बनाम फेसबुक राजनीति से परे भी है...Read More

Book Review: अनामिका का उपन्यास — 'आईनासाज़': संबंधों के नए साज और सुर

May 18, 2020
अनामिका के नए उपन्यास आईनासाज़ की इस समीक्षा में सुनीता गुप्ता लिखती हैं कि "अनामिका के यहां प्रतिरोध की वह मुखर प्रतिध्वनि नहीं मिल...Read More

खून से लबालब विषाद का समुद्र: अमरेंद्र किशोर | नक्सलवाद समस्या एवं समाधान

May 12, 2020
नक्सलवाद की समस्या लिखते एवं समाधान तलाशते अमरेंद्र किशोर की आगामी पुस्तक "ये माताएं अनब्याही हैं" के हर अंश को आप  कम से कम...Read More

दिनमान की यादें - 4 "सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन अज्ञेय" — विनोद भारद्वाज | #DinmanKiYaden #Sansmaranama

May 02, 2020
विनोद भारद्वाजजी के इस 'दिनमान की यादें' संस्मरणनामा को हिंदी साहित्य की दुनिया में ख़ूब पसंद किया जा रहा है. लॉकडाउन संस...Read More

कन्याओं की अस्मिता सोखते हैं नक्सली — लेख: अमरेंद्र किशोर | नक्सलवाद समस्या एवं समाधान

May 02, 2020
अमरेंद्र किशोर , वरिष्ठ पत्रकार की हर रिपोर्ट वह ज़रूरी कागज़ है जिसे देखा जाना चाहिए. इन कागज़ों को देखते हुए नक्सलवाद समस्या को न स...Read More

दिनमान की यादें - 2 और 3 "श्रीकांत वर्मा...सर्वेश्वर दयाल" — विनोद भारद्वाज | #DinmanKiYaden #Sansmaranama

May 01, 2020
कवि, उपन्यासकार और कला समीक्षक विनोद भारद्वाज जी को आप शब्दांकन पर पहले भी पढ़ते रहे है. विनोदजी के पास श्रेष्ठ यादों के कई दबे हुए...Read More
Powered by Blogger.