June 2017 - #Shabdankan
#Shabdankan

साहित्यिक, सामाजिक ई-पत्रिका Shabdankan


किसके मन की बात ? — भरत तिवारी

Thursday, June 29, 2017 0
देश का दुख कौन हरेगा? - भरत तिवारी जो जेहन को मथ रहा था उसे लिख दिया है, देखिये...  मोदीजी पिछले 3 साल से, जिस तरह कभी न ...
और आगे...

गौरक्षक-विरोध और मेरा स्वार्थ — अभिसार शर्मा | Abhisar Sharma Blog #CowVigilantism

Thursday, June 29, 2017 1
आइये मेरे जैसे स्वार्थी बन जाइये  — अभिसार शर्मा मैं नहीं चाहता के भारतीय Passport शर्मिन्दगी का सबब बने। — अभिसार शर्मा ...
और आगे...

गांधीवादी सलमान ! @BeingSalmanKhan 's #Tubelight

Sunday, June 25, 2017 1
एक अलग तरह के सलमान हैं यहां। अपनी छवि से अलग। न मारधाड़ और न कमीज उतारकर अधनंगे बदन खलनायकों की पिटाई करनेवाले ट्यूबलाइट: इस फ...
और आगे...

मीडिया का सवाल — #राजदीप_सरदेसाई

Saturday, June 24, 2017 1
जब मीडिया संस्थानों का मालिक कौन है —  पता ही नहीं हो, तब नेताओं और उनकी भाड़े की सेनाओं के लिए हमें ‘प्रेस्टीट्यूटस’ कहना आसान हो जात...
और आगे...

प्रवासी साहित्यकार तेजेन्द्र शर्मा को ब्रिटिश पद्म-सम्मान

Thursday, June 22, 2017 1
ब्रिटिश सरकार द्वारा अधिकारिक दस्तावेज़ लंदन ग़ज़ट में तेजेन्द्र शर्मा के नाम की घोषणा की गई। तेजेन्द्र शर्मा को मेंबर ऑफ़ द ऑर...
और आगे...

गांधी को 'स्पिक मैके' में लाये टीएम कृष्णा #MahatmaGandhi

Saturday, June 17, 2017 1
अनन्या वाजपेयी गांधी की ऐसी जरूरत पहले कभी नहीं महसूस हुई — अनन्या वाजपेयी जिस दक्षिणपंथी हिंदू श्रेष्ठवादी पार्टी का शासन ...
और आगे...

सच बोलो! चुप नहीं रहो! डरो मत! — #राहुल_गाँधी_का_आह्वान #RahulGandhi

Friday, June 16, 2017 1
मेरी जब पत्रकारों से मुलाकात होती है वो मुझसे कहते हैं ‘हमें लिखने ही नहीं दिया जा रहा है जो लिखना चाहते हैं’ ‘सच की ताकत’ के ऊ...
और आगे...

चतुर बनिया पार्टी ! — कृष्णा सोबती #KrishnaSobti #ChaturBaniyaParty

Wednesday, June 14, 2017 0
चतुर बनिया पार्टी ! — कृष्णा सोबती साहित्य अकादमी सम्मानित कृष्णा सोबतीजी 92 वर्ष की युवा हैं. बीते दिनों उनकी तबीयत ठीक नहीं ...
और आगे...

गीताश्री — आ जाओ धड़कते हैं अरमां — कथा-शिविर कोलाज memory of a village #GeetaShree

Monday, June 12, 2017 3
मैंने राजवंती के गले में उस बूंदे को छूते हुए टोका — “ये बेटे के लिए पहना है न ?” गीताश्री पराई पीर समझने का नतीजा है ‘परिवर्तन’...
और आगे...

#Shabdankan

↑ Grab this Headline Animator