September 2017 - #Shabdankan
#Shabdankan

साहित्यिक, सामाजिक ई-पत्रिका Shabdankan


हिमालयन इकोज़ : कुमाऊँ फेस्टिवल ऑफ़ लिटरेचर एंड आर्ट्स

Tuesday, September 26, 2017 1
नसीरुद्दीन शाह से गूंजेगा हिमालयन इकोज़ आज के नवोदय टाइम्स में http://bit.ly/2htbjDc संस्कृति के लिए कुछ करने के ना...
और आगे...

भवतु सब्ब मंगलं — सत्येंद्र प्रताप सिंह | #विपश्यना

Sunday, September 24, 2017 1
विपश्यना — सत्येंद्र प्रताप सिंह — संस्मरण: पार्ट 4 तपस्या बहुत कठिन लगने लगी थी। रात को 9 बजे से लेकर सुबह 4 बजे तक सोने के वक्त...
और आगे...

उर्दू को कोई ख़तरा नहीं है

Friday, September 22, 2017 1
असली स्वाद पाने के लिए रसिक मूल भाषा को अधिक पसंद करता है - भरत तिवारी  हर बोली का एक अपना-काव्य होता है, भाषाओं का विस्...
और आगे...

हाईस्कूल-इंटर के दिन याद आ गए — सत्येंद्र प्रताप सिंह | #विपश्यना

Sunday, September 17, 2017 0
विपश्यना — सत्येंद्र प्रताप सिंह — संस्मरण: पार्ट 3 सुबह सबेरे उठना भी एक कठिन टास्क होता है। खासकर ऐसी स्थिति में जब आपको 3 बजे ...
और आगे...

गीता चंद्रन के भरतनाट्यम में भक्ति प्रवाह — भरत तिवारी #ClassicalMusic #Bharatnatyam

Sunday, September 17, 2017 0
भक्ति भारतीय शास्त्रीय नृत्य के मूल में है — भरत तिवारी description श्रुती कोटि समं जप्यम जप कोटि समं हविः हविः कोटि समम...
और आगे...

कपिल मिश्रा : न्यू इंडिया पुराने तरानों पर नहीं बनेगा #RightSide

Sunday, September 17, 2017 2
(Image courtesy: Sonu Mehta/HT Photo) तैयार हो दोस्तों ?  — कपिल मिश्रा तुम लड़ नही पाओगे उनसे अगर उन्हें पहचाना नहीं। उनकी भ...
और आगे...

21वीं सदी का ज़फर: एम्ऍफ़ हुसैन वाया पार्थिव शाह — भरत तिवारी #photography

Friday, September 15, 2017 0
कितना है बद-नसीब 'ज़फ़र' दफ़्न के लिए  दो गज़ ज़मीन भी न मिली कू-ए-यार में    — बहादुर शाह ‘ज़फर’   मकबूल ‘फ़िदा’ हु...
और आगे...

प्रेमा झा की कविता : प्रद्युम्न की माँ | #Pradyuman #Poem

Thursday, September 14, 2017 0
गुड़गाँव के एक स्कूल में सात साल के प्रद्युम्न की हत्या बड़ी बेरहमी से बाथरूम में कर दी गई... प्रेमा झा की 'प्रद्युम्न की ...
और आगे...

देवनागरी हो संस्कृत से निकली हर भाषा की लिपि — मो. क. गांधी #हिंदी_दिवस

Thursday, September 14, 2017 0
देवनागरी की महत्ता पर बापू का ख़त हिंदी-दिवस विशेष  इस संस्करण को हिंदी में छापने के दो उद्देश्य हैं। मुख्य उद्देश्य ...
और आगे...

#Shabdankan

↑ Grab this Headline Animator