July 2015 - #Shabdankan
#Shabdankan

साहित्यिक, सामाजिक ई-पत्रिका Shabdankan


असग़र वजाहत की यादें - सुरेन्द्र राजन | Asghar Wajahat on Surendra Rajan

Friday, July 31, 2015 0
सुरेन्द्र राजन ~ असग़र वजाहत की यादें सुरेन्द्र राजन को कौन नहीं जानता. जिसे फिल्म, कला और साहित्य में गंभीर दिलचस्पी होगी वह राजन...
और आगे...

फांसी की खबर आई वो मुसलमान हो गया - अनंत विजय | Anant Vijay on Selective Secularism

Tuesday, July 28, 2015 0
अनंत विजय  - आज याकूब की फांसी की सजा पर छाती कूटनेवालों को उन परिवारों के दर्द का एहसास नहीं है जो 1993 के बम धमाकों में मारे गए थे...
और आगे...

जन्मदिन पर विशेष : नामवर सिंह वाया विश्वनाथ त्रिपाठी | Namvar Singh via Vishwanath Tripathi (Birthday Special)

Tuesday, July 28, 2015 1
डॉ. नामवर सिंह  अपना सिर पकड़ कर बैठ गए और बोले कि आप लोग किसी शरीफ आदमी के यहां जाने लायक नहीं हैं। आप लोग क्षमायाचना कीजिए। और क्...
और आगे...

कविता: सारे रंगों वाली लड़की - भरत तिवारी | Sare Rangon Vali Ladki - Poems Bharat Tiwari (hindi kavita sangrah)

Saturday, July 25, 2015
सारे रंगों वाली लड़की कल किसी ने याद दिलाया इन कविताओं को, ये 'बहुवचन अंक 41', अप्रैल-जून 2014 में प्रकाशित हुईं थीं...  कवि...
और आगे...

स्वाति तिवारी की दो प्रेम कहानियां : Two #Hindi #Love Stories by Swati Tiwari

Thursday, July 23, 2015 2
बैंगनी फूलों वाला पेड़ ~ स्वाति तिवारी चाणक्यपुरी वाला हमारा सरकारी बंगला, जहां दिल्ली, दिल्ली है ऐसा कम ही लगता। साफ-सुथरा वीआईपी...
और आगे...

रचनाओं के रीमिक्स ~ अशोक मिश्र

Tuesday, July 21, 2015 1
आइए, कहानी-कविता चुराएं ~ अशोक मिश्र अशोक मिश्र पिछले 23-24 वर्षों  व्यंग्य लिख रहे हैं। कई छोटी-बड़ी पत्र-पत्रिकाओं में ख...
और आगे...

ईद मिलन पर भारत-पाक मिलन का संदेश ~ दिव्यचक्षु | Movie Review: Bajrangi Bhaijaan & Bin Roye

Monday, July 20, 2015 0
ईद मिलन पर भारत-पाक मिलन का संदेश ~ बजरंगी भाईजान फिल्म समीक्षा निर्देशक  - कबीर खान कलाकार  - सलमान खान, करीना कपूर खान, ...
और आगे...

असग़र वजाहत की यादें - मुईन अहसान 'जज़्बी' | Asghar Wajahat on Moin Ahsan 'Jazbi'

Monday, July 20, 2015 0
मुईन अहसान 'जज़्बी' ~ असग़र वजाहत की यादें मुईन अहसान 'जज़्बी' उर्दू के मशहूर आधुनिक शायरों में थे. अलीगढ़ मुस्लिम...
और आगे...

चार ग़ज़लें ~ प्राण शर्मा | #Ghazal : Pran Sharma #Shair

Sunday, July 19, 2015 5
चार ग़ज़लें  ~ प्राण शर्मा खामियाँ सबकी गिनाना दोस्तो आसान है / खामियाँ अपने गिनाना दोस्तो आसां नहीं परखचे   अपने  उड़ाना   दोस्...
और आगे...

ईदगाह - मुंशी प्रेमचन्द | Idgah - Munshi Premchand (English)

Friday, July 17, 2015 0
सोच रहा था कि आज ईद के मुबारक अवसर पर बधाई किस तरह दूं। बहुत सारे विकल्प ज़ेहन में आ रहे थे मगर दिल नहीं राज़ी हो रहा था। एक ख्याल जो सब ...
और आगे...

#Shabdankan

↑ Grab this Headline Animator