head advt

divya-chakshu लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैंसभी दिखाएं
तीन फिल्मों की समीक्षायें: फैंटम / बांके की क्रेजी बारात / कौन कितने पानी में  | Movie Review: Phantom / Baankey Ki Crazy Baraat / Kaun Kitne Paani Mein दिव्यचक्षु
फिल्म समीक्षा: माझी / ऑल इज वेल | Movie Review: Manjhi / All is Well | दिव्यचक्षु
फिल्म समीक्षा: ब्रदर्श | Movie Review: Brothers | दिव्यचक्षु
फिल्म समीक्षा: बैंगिस्तान / जांनिशार | Movie Review: Bangistan / Jaanisaar | दिव्यचक्षु
फिल्म समीक्षा: दृश्यम | Movie Review: Drishyam | दिव्यचक्षु
ईद मिलन पर भारत-पाक मिलन का संदेश  ~ दिव्यचक्षु | Movie Review: Bajrangi Bhaijaan & Bin Roye
बेजुबान इश्क / फिल्म समीक्षा | Bezubaan Ishq / Review
खाप की खाट / Guddu Rangeela Review
युवा  ~ दिव्यचक्षु | Movie Review: Uvaa
हंसी का भैसा लोटन  ~ दिव्यचक्षु | Movie Review: Miss Tanakpur Haazir Ho
एक कलाकार की आजादी का प्रश्न  - दिव्यचक्षु | Movie 'Rang Rasiya' Review - Divya-Chakshu
इस फिल्म का लुत्फ लेना है तो कहानी पर ज्यादा ध्यान मत दीजिए - दिव्यचक्षु | Movie 'Bang Bang' Review - Divya-Chakshu
काश, सिर्फ चुलबुली होती सोनम -  दिव्यचक्षु | Wish,  Sonam was just bubbly - 'Khoobsurat' review - Divya-Chakshu
एक अलसाए गांव में प्रेम 'फाइंडिग फेनी' - दिव्यचक्षु | Love in a Somnolent Village 'Finding Fanny' review - Divya-Chakshu
एक भारतीय औरत का जिद्दी जज्बा 'मेरी कॉम' - दिव्यचक्षु | Mary Kom (Priyanka Chopra) Review - Divya-Chakshu