शुक्रवार, दिसंबर 15, 2017

मैनें कब माँगी खुदाई मुस्कुराने के लिए... #shair #ghazal

शुक्रवार, दिसंबर 15, 2017
मैनें कब माँगी खुदाई मुस्कुराने के लिए डॉ. एल.जे भागिया ‘ख़ामोश’  की ग़ज़ल     मैनें   कब   माँगी   खुदाई    मुस्कुराने  ...

गुरुवार, दिसंबर 14, 2017

अतीत में खुलती खिड़कियों से भविष्य की तलाश - दिल ढूँढ़ता है...! @tak_era

गुरुवार, दिसंबर 14, 2017
समीक्षा: इरा टाक दिल ढूंढता है – उपन्यास | लेखक - राकेश मढोतरा सपनों और हकीकत की कश्ती में सवार हर इंसान जीवन के समंदर में इधर...

डॉ सच्चिदानंद जोशी की कहानी — भाई दूज

गुरुवार, दिसंबर 14, 2017
छोटी कहानी में 'बड़े' मानवीय रिश्तों और मूल्यों को आधुनिक-आवश्यक-सामाजिक बदलावों की महत्ता दिखाते हुए कह पाना और साथ में कहा...

गुरुवार, नवंबर 30, 2017

दिल्ली को लोक रंग से भर रहा है #लोकगाथा_उत्सव

गुरुवार, नवंबर 30, 2017
IGNCA आइये बुधवार को अन्य कार्यक्रमों के अलावा इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय कला केंद्र की हरियाली को हिन्दी के चर्चित गायक मोहित चौहान ...

सोमवार, नवंबर 27, 2017

इंदिरा दाँगी की कहानी 'गुड़ की डली' | #Hindi @IndiraDangi

सोमवार, नवंबर 27, 2017
‘‘अम्मा भूख लगी है !’’ ‘‘अभी तो खाई थी रोटी घण्टा भर पहले !’’ दीपा चुप है किसी गुनहगार की तरह; लेकिन उसकी रिरियाती दृष्टि में भूख़ ...

शनिवार, नवंबर 25, 2017

निकलो अँधेरे कमरों से — पूछो !!! — शबनम हाश्मी | #JusticeLoya

शनिवार, नवंबर 25, 2017
प्रख्यात मानवाधिकार कार्यकर्ता शबनम हाशमी ढूँढो अँधेरे कोनों से बाहर निकलो और आवाज़ बुलन्द करो — हमें यह मंज़ूर नहीं — शबनम हाश...

मंगलवार, नवंबर 21, 2017

डर को ममता की चादर क्यों पहनायी जा रही है — अभिसार शर्मा | @abhisar_sharma

मंगलवार, नवंबर 21, 2017
अभिसार लिख रहे हैं, लगातार बोल रहे हैं, मगर क्या आप उन्हें पढ़, समझ भी रहे हैं?  अपनी अक्ल को ख़ुद ठिकाने लगाना अक्लमंदी होती है साहब, ...

सोमवार, नवंबर 20, 2017

#केला_गणराज्य और बहन पद्मावती — अभिसार शर्मा | #Padmavati @abhisar_sharma

सोमवार, नवंबर 20, 2017
केला गणराज्य भारत वाकई एक केला गणराज्य बनने की ओर अग्रसर है। केला गणराज्य? यानी कि, ये क्या होता है जी ?  दरअसल आज से कई साल प...

किसका जौहर सीता का_कि पद्मावती_का — प्रज्ञा #Padmavati

सोमवार, नवंबर 20, 2017
किसे होना चाहिये आपका आदर्श? — प्रज्ञा कहानी को कहानी रहने दीजिये, स्त्री का आत्मसम्मान, उसका आदर्श इससे कहीं ज्यादा ऊ...

रविवार, नवंबर 19, 2017

आकांक्षा पारे की कहानी "नीम हकीम"

रविवार, नवंबर 19, 2017
इंडिया टुडे साहित्य वार्षिकी   में प्रकाशित आंकाक्षा पारे की कहानी  नीम हकीम रक्कू भैया का कहा ब्रहृम वाक्य। ऐसे कैसे टाल दें...

गुरुवार, नवंबर 16, 2017

रानी पद्मावती, योगी सरकार और #भक्ति_का_चरसकाल — अभिसार शर्मा | #Padmavati

गुरुवार, नवंबर 16, 2017
योगी, रानी पद्मावती पर मेरा नया ब्लॉग —  अभिसार शर्मा एक सरकार, हिंसा करने वाली किसी संस्था का ज़िक्र कर रही है, अपनी बेबसी और...

गूगलानुसार शब्दांकन